साइबर-स्पेस की सुरक्षा और दुश्मनों पर सर्जिकल स्ट्राइक करेगा सेना का ये ख़ास दस्ता

क्या है मामला?
डिफेंस मिनिस्ट्री के सूत्रों के हवाले से अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ़ इंडिया में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तानी सेना ने अभिनंदन ने साथ अच्छा व्यवहार किया था, लेकिन ख़ुफ़िया एजेंसी ISI ने उनके साथ न सिर्फ मारपीट बल्कि उनसे पूछताछ के दौरान अभद्र बातें भी की थीं. अभिनंदन ने वापस लौटकर सैन्य अधिकारियों के सामने जो बयान दर्ज कराया है, उसके मुताबिक करीब 40 घंटे तक ISI ने उनसे पूछताछ की थी और भारत की खुफिया एजेंसी रॉ (रिसर्च ऐंड ऐनालिसिस विंग) से जुड़े सवालों के दौरान बदतमीजी भी की थी.

क्या हुआ था?
मिली जानकारी के मुताबिक गिरफ्तार होने के बाद करीब 4 घंटे तक वो पाकिस्तानी सेना की कस्टडी में थे, जहां उनके साथ अच्छा व्यवहार किया गया. इसके बाद ISI के लोग उन्हें पूछताछ के लिए इस्लामाबाद से रावलपिंडी ले गए. यहां ISI ने आंखों में पट्टी बांधी बांधकर उन्हें करीब 40 घंटे तक स्ट्रॉन्ग रूम में रखा था. यहां न सिर्फ उनके सिर पर बंदूक की बट से वार किया गया, बल्कि उनसे बदतमीजी भी की गई थी.

इसी हमले की वजह से उनकी दायीं आंख के ऊपर चोट आई थी. अभिनंदन ने यह भी बताया कि उनसे पूछताछ के दौरान यह भी कहा गया कि वह भले ही अपने बारे में कुछ जानकारी नहीं दे रहे हों लेकिन इंडियन मीडिया के जरिए उन्हें अभिनंदन परिवार से लेकर उनके पिता के रिटायर्ड एयर फोर्स ऑफिसर होने और उनके घर के पते तक सारी जानकारी मिल गई थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *