BREAKING : कोयले के काले खेल का भांडाफोड़,7 आरोपी गिरफ्तार

रायगढ़। रायगढ़ पुलिस ने एनटीपीसी लारा को की जाने वाली कोयले की सप्लाई में मिलावटी कोयले मिश्रित करने के बड़े गोरखधंधे का भंडाफोड़ किया है. इस मामले में पुलिस ने 7 आरोपियों को गिरफ्तार किया है और 3 ट्रेलर वाहन 2 जेसीबी, 1 पोकलेन को जब्त किया है. पुलिस द्वारा की गई छापामार कार्रवाई में 139 मीट्रिक टन से ज्यादा कोयला भी बरामद हुआ है. जिसकी कीमत तकरीबन साढ़े तीन लाख रुपये बताई जा रही है.

बताया जा रहा है कि कोयले में मिलावट का यह खेल रायगढ़ जिले में लंबे समय से चल रहा था. NTPC लारा में ओडिशा के डूलंग कोल माइंस से कोयले की सप्लाई की जाती है. इस कोल माइंस का कोयला सबसे अच्छी क्वालिटी का माना जाता है. जानकारी के मुताबिक डूलंग कोल माइंस से कोल लेकर ट्रेलर लारा NTPC में सप्लाई करने के लिए निकलता है लेकिन सीधा NTPC न जाकर ट्रेलर चालक ग्राम देलारी में स्थित जय भोले कोल डिपो पहुंचता है. जहां अच्छे क्वालिटी के कोयले को खाली कर डिपो में पहले से रखे निम्न क्वालिटी का सस्ता कोयला पत्थर और चारकोल को मिक्स करने का काला खेल खेला जाता है. रायगढ़ एसपी संतोष सिंह को कोयले के इस काले खेल का जब पता चला तो उन्होंने तुरंत ही अधिकारियों को कार्रवाई करने का आदेश दिया.

जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस की टीम ने जय भोले कोल डिपो में दबिश दी. जहां कांटा घर ऑपरेटर शेख अनीश, डिपो का मुंशी संतोष प्रजापति, लोडर ऑपरेटर सीताराम भारद्वाज, जेसीबी ऑपरेटर संजय तिर्की तथा 3 ट्रेलर के चालकों द्वारा नियम विरुद्ध अच्छी किस्म के कोयले की चोरी कर कोयला पत्थर, चारकोल जो पूर्व से डिपो में रखा हुआ था उसे ट्रेलर वाहन CG 13 AD-4253, CG13AD-4252, CG13AF-2159 में लोडिंग कर रहे थे. पुलिस ने तीनों ट्रेलर कोयला सहित, जेसीबी और पोकलेन वाहन को भी जब्त कर लिया है. बताया जा रहा है कि तीनों ट्रेलर रायगढ़ निवासी मनोज तमता का बताया जा जा रहा है.

इसके साथ ही इंदिरा विहार चेक पोस्ट के पास वाहनों की चेकिंग दौरान पुलिस ने कोयले से भरे हाईवा CG 22/C-4546 को भी जब्त किया है. बताया जा रहा है कि जांच के दौरान वाहन मालिक व चालक को आवश्यक दस्तावेज प्रस्तुत करने को कहा गया जिस पर वे असफल रहे. वाहन में लोड कोयला चोरी का होने की शंका पर चक्रधरनगर पुलिस ने 20 टन कोयले से भरी हाईवा को जब्त कर लिया है. पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 41(1+4)CrPC/ 379 IPC एवं खान एवं खनिज (विकास एवं विनियम) अधिनियम 1957 की धारा 21(4) के तहत कार्रवाई की है.

पुलिस की इस कार्रवाई से जिले में कोयले का अवैध काम करने वालों में हड़कंप मच गया है. पूंजीपथरा पुलिस द्वारा छापेमारी कर लौटते समय देलारी-गेरवानी मार्ग पर ट्रेलर CG13 AF-2161 ‍जिसमें 36.880 मेट्रिक टन कोयला कीमती 63,000 रूपये का लोड है, चालक द्वारा पुलिस पेट्रोलिंग को आता देख छोड़कर भाग गया था. जिसे पूंजीपथरा पुलिस द्वारा जप्त कर धारा 102 CrPC के तहत कार्रवाई की गई है.

वहीं बताया जा रहा है कि इस गोरखधंधे को अंजाम देने वाले जय भोले कोल डिपो को मनोज तमता निवासी रायगढ़, सिटू अग्रवाल अंबिकापुर, आरिफ खान अंबिकापुर तथा प्रमोद सिंह निवासी रायगढ़ के द्वारा संचालन किया जा रहा है. इस काले खेल में संचालकों की क्या भूमिका है, इसका पता नहीं चल पाया है. फिलहाल पुलिस द्वारा संचालकों के खिलाफ अभी कोई कार्रवाई नहीं की गई है. अधिकारियों का कहना है कि जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी. 

इन आरोपियों पर की गई कार्रवाई

(1) आरोपी कांटा घर ऑपरेटर – शेख अनीश पिता शेख असलम 26 साल निवासी मंगला बिलासपुर दीनदयाल कॉलोनी एमआइजी 185 हाल मुकाम ग्राम देलारी जय भोले कोल डिपो थाना पूंजीपथरा

(2) कोलडिपो का मुंशी- संतोष प्रजापति पिता स्वर्गीय राम नारायण प्रजापति एक 30 साल निवासी जूटमिल लेबर कॉलोनी हाल मुकाम देलारी जय भोले कोल डिपो

(3) लोडर ऑपरेटर – सीताराम पिता करमू राम भारद्वाज 47 वर्ष निवासी ग्राम गोडम थाना सारंगढ़ हाल मुकाम देलारी जय भोले कोल डिपो

(4) जेसीबी ऑपरेटर- संजय तिर्की पिता रिझन तिर्की उम्र 34 साल निवासी महादेव मुंडा थाना कांसाबेल जिला जसपुर हाल मुकाम देलारी जय भोले कोल डिपो

1 thought on “BREAKING : कोयले के काले खेल का भांडाफोड़,7 आरोपी गिरफ्तार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *