हनीट्रैप के लिए इस तरह होती थी लड़कियों की भर्ती, मजबूर लड़कियां रहती थी निशाने पर

इंदौर।Madhya Pradesh Honey Trap Case नगर निगम के निलंबित इंजीनियर हरभजन सिंह का अश्लील वीडियो बनाकर तीन करोड़ की मांग करने वाली श्वेता-आरती के करीबी अभिषेक ठाकुर को एसआईटी ने गिरफ्तार कर लिया। वह अफसर नेताओं के अंतरंग वीडियो बनाने और गिरोह में छात्राओं की भर्ती करने का काम करता था। आरोपित पर पलासिया थाने में ब्लैकमेलिंग और सीआईडी में मानव तस्करी का केस दर्ज है। पुलिस उससे जुड़ी रूपा की तलाश कर रही है। मजबूर लड़कियों से सोशल मीडिया पर दोस्ती गांठता था। पलासिया थाना पुलिस के मुताबिक, आरोपित का नाम अभिषेक उर्फ चिंटू (31) पिता अमरसिंह ठाकुर निवासी विष्णुधाम सोसायटी अयोध्या बायपास भोपाल है। एसआईटी को शुक्रवार रात सूचना मिली कि वह परिजन से मिलने आया है।

क्राइम ब्रांच अफसरों ने सीआईडी को अलर्ट किया और दबिश देकर पकड़ लिया। शनिवार दोपहर उसे भोपाल कोर्ट में पेश कर सोमवार तक रिमांड पर ले लिया। जांच अधिकारियों के मुताबिक, अभिषेक श्वेता विजय जैन की फैक्टरी में काम करने के दौरान करीब आ गया था। श्वेता के इशारे पर उसने मोनिका यादव से सोशल मीडिया पर दोस्ती गांठी और दोनों की मुलाकात करवा दी। श्वेता ने उसे गिरोह में शामिल कर लिया और होटल इन्फिनिटी व श्री में हरभजन का अश्लील वीडियो बनवा लिया। पुलिस अभिषेक की साथी रूपा पिता वीर अहिरवार निवासी रहेनिया बमीठा छतरपुर को तलाश रही है।

नौकरी-रुपया और मकान के बहाने फंसाकर अंतरंग वीडियो बनाना कबूला

अभिषेक ने पूछताछ में कबूला कि उसने मोनिका से फेसबुक पर दोस्ती की थी। अप्रैल 2019 में आर्मी भर्ती के दौरान मोनिका से भोपाल में मिला और आरती दयाल से मुलाकात करवाई। उसे पढ़ाई, नौकरी, मकान और रुपए का लालच दिया और श्वेता के पास ले गए। ब्रेनवॉश करने के बाद जून में आरती व अभिषेक कार लेकर मोनिका के घर पहुंचे। खुद को समाजसेवी बताया और कहा कि मैडम (श्वेता) ने भोपाल बुलाया है। एसआईटी की जांच में इस बात का उल्लेख है कि अभिषेक श्वेता-आरती के साथ मिलकर संगठित गिरोह के रूप में काम कर रहा था। अभिषेक लाचार महिलाओं व लड़कियों को गिरोह में भर्ती करता था। धनवान और उच्च पदासीन व्यक्तियों के अंतरंग वीडियो बनाता था। फिर ट्रांसफर, पोस्टिंग व अवैध वसूली करता था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *