‘कहर कोरोना का’ केरल में राजकीय आपदा घोषित, अब तक मिल चुके हैं तीन प्रभावित मरीज

तिरुवनंतपुरम: केरल में करॉना वायरस को लेकर खौफ का माहौल है। राज्य सरकार ने इसे अब आपदा घोषित कर दिया है। केरल सरकार की स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा ने करॉना के बढ़ते मामलों को देखते हुए इसे अब राज्य आपदा घोषित करने का ऐलान किया। इसके मद्देनजर राज्य के सभी जिलों में अलर्ट जारी किया गया है। भारत में अब तक करॉना के तीन मामलों की पुष्टि हुई है और यह सभी केस केरल से हैं। जिन मरीजों में इस वायरस की पुष्टि हुई है, वह हाल ही में चीन से लौटे हैं।

करॉना वायरस से पीड़ित तीसरा शख्‍स हाल ही में चीन के वुहान शहर से लौटा था। मरीज को अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है और डॉक्‍टर उसकी लगातार निगरानी कर रहे हैं। यह मरीज केरल के कसारगोड का रहने वाला है। इस बीच करॉना वायरस के केरल में तीन मामले सामने आने के बाद पड़ोसी राज्‍य कर्नाटक के भी कई जिलों में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है।

‘डरने की जरूरत नहीं, सभी ऐहतियाती कदम उठाए जा रहे’
स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा ने बताया कि केरल के मुख्यमंत्री पिनारई विजयन के निर्देश पर करॉना वायरस को राज्‍य आपदा घोषित किया गया है। उन्‍होंने कहा कि करॉना वायरस संक्रमण को लेकर डरने की जरूरत नहीं है और राज्य में इस संक्रमण से बचने के लिए सभी ऐहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं। सभी जिलों में निगरानी की जा रही है और प्रभावित देशों से आने वाले यात्रियों की जांच की जा रही है।

2239 लोगों की करॉना के शक में जांच
सरकारी अस्पताल की ओर जारी चिकित्सकीय बुलेटिन में कहा गया है कि जिन छात्रों को यह संक्रमण होने की पुष्टि हुई है, उनके स्वास्थ्य की स्थिति ‘संतोषजनक’ है। इससे पहले चीन के वुहान में पढ़ने वाले दो छात्रों को त्रिशूर और अलाप्पुझा में कोरोना वायरस से पीड़ित होने का पता चला था। वुहान करॉना वायरस का केंद्र है। बुलेटिन में कहा गया है कि आज की तारीख तक, चीन समेत करॉना वायरस से प्रभावित देशों की यात्रा करने वाले कुल 2239 लोगों की पहचान की गई है और उन्हें निगरानी में रखा गया है। शैलजा ने कहा कि चीन से लौटे कुछ लोग स्वास्थ्य विभाग से बच रहे हैं। उन्होंने कहा कि वे रिपोर्टिंग नहीं करके जो कर रहे हैं, वह बहुत खतरनाक है। सरकार वुहान से लौटे लोगों की सूची तैयार करने की भी कोशिश कर रही है।

कर्नाटक में भी जांच जारी
केके शैलजा ने बताया कि मरीज का कांजनगाड जिला अस्‍पताल में इलाज चल रहा है। मरीज की हालत स्थिर है। उन्‍होंने बताया कि मरीज हाल ही में वुहान से लौटा था। इस बीच केरल के पड़ोसी राज्‍य कर्नाटक में भी करॉना वायरस की जांच जारी है। कर्नाटक के स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के मुताबिक अब तक राज्‍य में 29 नमूनों की जांच की गई है जिसमें सभी न‍िगेटिव पाए गए हैं।

चीन में 361 लोगोंं की इस बीमारी से मौत
सतर्कता के ल‍िहाज से कर्नाटक के मेंगलुरु, कोडागू, चामराजनगर और मैसूर में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है। कर्नाटक सरकार के मुताबिक अब तक 51 यात्री करॉना वायरस से प्रभावित देशों से आए हैं और उनमें से 46 को उनके घरों में अलग-थलग रखा गया है। चार लोगों ने देश छोड़ द‍िया है और एक को अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। बता दें कि भारत ने चीन से आने वाले विदेशियों के लिए ई-वीजा से‌वाएं फिलहाल सस्पेंड कर दी हैं। सरकार ने बताया कि वुहान से भारतीयों को लाने का सिलसिला रविवार को पूरा हो गया।

1 thought on “‘कहर कोरोना का’ केरल में राजकीय आपदा घोषित, अब तक मिल चुके हैं तीन प्रभावित मरीज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *