क्रिकेटर Yuvraj Singh के खिलाफ पुलिस जांच शुरू, दर्ज होगी FIR!

दिग्गज क्रिकेटर Yuvraj Singh के खिलाफ इंस्टाग्राम लाइव चैट के दौरान जातिसूचक टिप्पणी करने के लिए पुलिस जांच शुरू हो गई है।

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ऑलराउंडर Yuvraj Singh लाइव चैट के दौरान जातिसूचक टिप्पणी कर मुश्किलों में घिर गए हैं। अनुसूचित जाति एवं जनजाति के लिए काम करने वाले सामाजिक कार्यकर्ता एडवोकेट रजत कलसन ने पूर्व भारतीय क्रिकेटर युवराज सिंह पर कथित रूप से अनुसूचित जाति के बारे में अपमानजनक टिप्पणी का आरोप लगाया है। कलसन के मुताबिक युवराज ने एक इंस्टाग्राम लाइव चैट के दौरान यह टिप्पणी की, जिससे करोड़ों लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंची है।

रजत कलसन ने मंगलवार को हांसी के पुलिस अधीक्षक लाकेंद्र सिंह से युवराज सिंह के खिलाफ अनुसूचित जाति व जनजाति अत्याचार अधिनियम के तहत मामला दर्ज करने की मांग की थी। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि Yuvraj Singh के खिलाफ आई शिकायत की DSP रोहताश जांच कर रहे हैं। FIR दर्ज करने की मांग की थी लेकिन अभी यह दर्ज नहीं की गई है। उन्होंने बताया कि इस मामले को लेकर हर पहलू की जांच की जाएगी और जांच पूरी होने के बाद अगर उनको दोषी पाया जाता है तो कार्रवाई की जाएगी। अनुसूचित जाति-जनजाति आयोग ने भी 15 दिन के अंदर पुलिस से स्टेटस रिपोर्ट देने के लिए कहा है।

Yuvraj Singh ने पिछले दिनों भारतीय ओपनर Rohit Sharma के साथ इंस्टाग्राम लाइव चैट किया था। इस दौरान इन दोनों खिलाड़ियों ने कई राज उजागर किए थे। इन दोनों ने कोरोना वायरस, अपनी निजी जिदंगी और भारतीय क्रिकेटरों के मुद्दे पर लंबी बातचीत की थी। रोहित शर्मा और युवराज की बातचीत के दौरान Yuzvendra Chahal के टिकटॉक वीडियो का भी जिक्र हुआ। इस पर युवराज सिंह ने चहल को लेकर एक जातिसूचक शब्द का इस्तेमाल कर दिया, जिससे वाल्मीकि समाज समाज नाराज हो गया। इस विवादित और जातिसूचक कमेंट के लिए युवराज सिंह से माफी मांगने को कहा जा रहा था और इसी के चलते ट्विटर पर #युवराज_सिंह_माफी_मांगो ट्रेंड हो रहा था। फैंस तो रोहित शर्मा की भी आलोचना कर रहे थे क्योंकि युवराज सिंह के इस कमेंट पर वे हंसे थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *