दस हजार बच्चों के सुपोषण के महती लक्ष्य को लेकर मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान का द्वितीय चरण आरंभ

मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के प्रथम चरण में लगभग पांच हजार बच्चों को सामान्य श्रेणी में लाने में मिली थी सफलता

दुर्ग जिले के अभियान में नवाचार भी शामिल, हर महीने हो रहा वजन त्योहार और बच्चों के बढ़त का रखा जा रहा रिकार्ड

दुर्ग 01 अगस्त 2020

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कुपोषण से मुक्ति को प्रदेश के सबसे प्राथमिकता के कार्यों में रखा है। इसका व्यापक असर मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान की सफलता में दिखा है। पहले चरण में दुर्ग जिले में ही 4800 बच्चे कुपोषण के दायरे से बाहर आये। अब शेष बच्चों को कुपोषण के दायरे से निकालने मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के द्वितीय चरण की शुरूआत हो रही है। अगले तीन सौ दिनों का लक्ष्य लेकर इस योजना में काम किया जाएगा। आज सभी जनप्रतिनिधियों ने घरों में बच्चों के लिए सुपोषण टोकरी देकर इस योजना की शुरूआत की। कलेक्टर डाॅक्टर सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे भी ग्राम अछोटी पहुंचे। वहां उन्होंने रूही देशमुख को सुपोषण की टोकरी भेंट किया। कलेक्टर ने इस मौके पर बच्चों के परिजनों से कहा कि बच्चे के शुरूआती पांच साल उसके आगे का भविष्य तय करते हैं। यदि इस दौरान बच्चे के पोषण का पूरा ध्यान रखा तो निश्चित ही बच्चा शारीरिक मानसिक रूप से मजबूत होगा जिससे उसका भविष्य उज्ज्वल होगा। इसी के अंतर्गत आपको सुपोषण टोकरी दी गई है। चूंकि अभी आंगनबाड़ी केंद्र बंद है इसलिए कार्यकर्ता आपके बच्चे के लिए घर में ही रेडी-टू-ईट छोड़ जाएगी। कलेक्टर ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने हम सभी को निर्देशित किया है कि कोई भी बच्चा कुपोषित न रहे। इसके लिए हम लोगों ने डीएमएफ मद से बच्चों के पोषण के लिए विशेष राशि रखी है। छह माह से तीन साल तक के बच्चों के लिए हम लोग विशेष रूप से गर्म आहार देंगे। ऐसे बच्चों की संख्या जिले में सात हजार है। अभी लाकडाउन है इसलिए सामग्री घर में ही पंहुचा दी जाएगी। कलेक्टर ने कहा कि आंगनबाड़ी की दीदी लोग आपसे गृह भेंट करने आते रहेंगे। आप उनके द्वारा दिये गए सुझावों पर अमल करें। इससे बच्चा बहुत तेजी से पोषित होगा। इस मौके पर कलेक्टर ने आंगनबाड़ी क्रमांक 3 भी देखा। वहां सुपोषण वाटिका देखकर उन्होंने खुशी जताई। यहां भाजियों और पपीते के साथ मुनगा के पौधे भी रोप दिये गए हैं। उन्होंने कार्यकर्ता की प्रशंसा करते हुए कहा कि आपका काम देखकर बहुत अच्छा लग रहा है। उन्होंने सरपंच श्री घनश्याम दिल्लीवार तथा जनपद सदस्य श्री टिकेश्वरी लाल देशमुख को भी बधाई दी। उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधियों के सहयोग और रुचि से सुपोषण अभियान कारगर तरीके से आगे बढ़ रहा है। आपके हाथों में आपके गांव का उज्ज्वल भविष्य है। इस दिशा में आप जितना काम करेंगे, गांव का भविष्य उतना ही मजबूत होगा। इस मौके पर परियोजना अधिकारी श्री अजय साहू, सुपरवाइजर श्रीमती देवकी साहू, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता दिनेश्वरी दिल्लीवार, आशालता दिल्लीवार तथा माया रामटेके भी उपस्थित रहे।

क्या है दुर्ग माडल में खास- जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री विपिन जैन ने बताया कि दुर्ग में सुपोषण अभियान में दो खास बातें हैं। पहला तो यह कि हम लोग हर महीने बच्चों के वजन ले रहे हैं। जो पंद्रह से 20 तारीख के बीच होता है। इनके आंकड़े एनआईसी की वेबसाइट में अपलोड हो जाते हैं। हमारे पास हर बच्चे के ग्रोथ का रिकार्ड है। इससे हमें सुपोषण मिशन को ट्रैक करने में आसानी होती है। कमजोर क्षेत्रों के लिए हम विशेष रणनीति बनाते हैं और अच्छा कार्य करने वालों को प्रोत्साहित करने में हमें इससे मदद मिलती है। उन्होंने कहा कि बच्चों को चिक्की आदि बहुत प्रिय होते हैं। इससे उन्हें स्वादिष्ट खाद्य पदार्थ भी मिलता है और हम उन्हें इसी बहाने आवश्यक प्रोटीन भी दे पाते हैं। श्री जैन ने कहा कि हमने सुपोषण वाटिका भी विकसित की है। पूरे जिले में बारह हजार मुनगा के पौधे भी लगाए गए हैं।

42 Replies to “दस हजार बच्चों के सुपोषण के महती लक्ष्य को लेकर मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान का द्वितीय चरण आरंभ”

  1. Thanks for finally talking about > दस हजार बच्चों के सुपोषण के महती
    लक्ष्य को लेकर मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान का द्वितीय चरण आरंभ – Kuber
    Bhoomi < Liked it! adreamoftrains best web hosting company

  2. Hey there just wanted to give you a quick heads up and let you know a few of the pictures aren’t loading properly.
    I’m not sure why but I think its a linking issue.
    I’ve tried it in two different internet browsers and both show the same
    results.

  3. Hi I am so glad I found your blog, I really found you by mistake,
    while I was looking on Aol for something else, Anyways I am here now
    and would just like to say thanks a lot for a remarkable post and a all round
    thrilling blog (I also love the theme/design), I don’t
    have time to browse it all at the minute but I have saved it
    and also added your RSS feeds, so when I have time I will be back to read much more, Please do keep up the awesome work.

  4. With havin so much written content do you ever run into any problems of plagorism or copyright violation? My blog has a lot of unique content I’ve
    either created myself or outsourced but it
    appears a lot of it is popping it up all over the internet without my authorization. Do you know any ways to help stop
    content from being stolen? I’d really appreciate it.

  5. I just like the helpful info you supply to your articles.
    I will bookmark your blog and take a look at again right here regularly.
    I am somewhat sure I’ll be informed many new stuff
    proper here! Good luck for the following!

  6. I think everything published was actually very
    logical. But, think on this, what if you were to create a awesome headline?

    I mean, I don’t want to tell you how to run your website, however what if you
    added a post title that makes people want more? I mean दस हजार बच्चों
    के सुपोषण के महती लक्ष्य को लेकर मुख्यमंत्री सुपोषण
    अभियान का द्वितीय चरण आरंभ
    – Kuber Bhoomi is a little vanilla. You should peek at Yahoo’s home page and
    watch how they create news headlines to grab people to open the links.
    You might add a video or a pic or two to grab people interested about what you’ve got to say.
    Just my opinion, it would bring your posts a little bit more interesting.

  7. I’m really enjoying the design and layout of your blog.
    It’s a very easy on the eyes which makes it much more enjoyable for me to
    come here and visit more often. Did you hire out a designer to create your
    theme? Excellent work!

  8. excellent put up, very informative. I’m wondering
    why the other specialists of this sector do not understand this.

    You should proceed your writing. I’m sure, you’ve a huge readers’ base
    already!

  9. Hi there, just became aware of your blog through Google,
    and found that it is truly informative. I am gonna watch
    out for brussels. I’ll appreciate if you continue this in future.

    Lots of people will be benefited from your writing.

    Cheers!

  10. I do not even know the way I finished up right here, but I assumed this post was good.
    I do not understand who you’re but definitely you’re going to a
    famous blogger when you are not already.
    Cheers!

  11. A person necessarily assist to make seriously posts I’d state.
    This is the very first time I frequented your web page and to this point?
    I amazed with the research you made to make this particular submit incredible.
    Fantastic task!

  12. Hello, i read your blog occasionally and i own a similar one and
    i was just wondering if you get a lot of spam feedback?

    If so how do you prevent it, any plugin or anything you can advise?
    I get so much lately it’s driving me insane so any support is very much appreciated.

  13. Thanks for the marvelous posting! I genuinely enjoyed reading it, you might be a great author.

    I will be sure to bookmark your blog and will often come back down the road.
    I want to encourage you to continue your great work, have a nice
    morning!

  14. An impressive share! I’ve just forwarded this onto a colleague who has been doing a little homework
    on this. And he in fact bought me dinner because I found it for him…
    lol. So allow me to reword this…. Thank YOU for the meal!!
    But yeah, thanks for spending some time to discuss this topic here on your web page.

  15. It is appropriate time to make some plans for the future and it’s time to be happy.

    I have read this post and if I could I wish to suggest you
    some interesting things or suggestions. Maybe you can write
    next articles referring to this article. I desire to read
    even more things about it!

  16. When someone writes an paragraph he/she retains the image of a user in his/her brain that how a user can know it.

    Thus that’s why this article is amazing. Thanks!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *