भाइयों की कलाई में बहनों ने सजाई राखियां

रायपुर। भाई-बहनों के प्रेम प्यार का प्रतीक रक्षाबंधन पर्व सावन के अंतिम सोमवार को हर्षोलास के साथ मनाया गया। इस दौरान बहनों ने भाइयो को रक्षा सूत्र बांधकर उनसे वचन लिये और साथ में मीठे-मीठे पकवान के साथ भाइयों की आरती उतारी गई। रक्षा बन्धन का पर्व पर इस बार कोरोना की भेट चढ़ गया लेकिन अपने भाइयों की कलाई को सजाने बहनों ने अपने शहर गॉव के नजदीक रहने वाले भाइयों की कलाइयों में राखी बांधने अपने साधन से पहुँच कर अपने भाई बहन के प्रेम को और मिठास में तब्दील कर दिया, क्योंकि न तो बसे चल रही है न ही ट्रेने, फिर भी आज भाइयों की कलाई में राखी सजाने में हर बाधा को बहनों ने पार कर दिया। अपने भाइयों की कलाइयों में राखी बांधने पहुँची बहनो ने दूर रहने और लॉक डाउन के चलते अपने भाइयों तक नही पहुँच पाई बहनों के लिए भी वीडियो कॉल के जरिये बहनों ने उन बहनों की कमी को पूरा करते हुए उनके द्वारा पूर्व में प्रेषित की गई राखी को अपने भाइयों को बांधा। इस दौरान भाइयों ने उन बहनों को तोहफा देने ऑन लाइन खरीदी करने का अपना प्रेम भी दिखाया, जबकि उपस्थित बहनों ने अपने भाइयों से तोहफा के रूप में उनसे हमेशा खुश हाल रहने का वचन माँगा। इसके अलावा कुछ बहने इस खास तयोहार रक्षाबंधन पर्व पर सबसे अधिक मांग मिठाईयों के साथ बहनो को गिप्ट हेतु साडीयां की ही रहती है, सख्त लॉकडाउन के कारण तोहफा और साडी की दुकानें बंद होने के कारण इस बार नकदी से ही काम चलाना पड़ा।
कम बहने आयी इस बार लॉक डाउन होने बसों और नियमित ट्रेनों के ना चलने से भाई बहनों के प्रेम-प्रतीक के पर्व रक्षा बन्धन पर इस बार अधिकांश बहनों ने आना जाना नहीं कर पाये और वीडियो काल के जरिये ही अपने भाइयों की कलाइयों में राखी बंधवाती रही और भाइयों ने भी उन्हें ऑन लाइन गिफ्ट देने में आतुर नजर आये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *